KurukhTimes.com

ताजा अपडेट ↯

BA एवं MA के कुँडुख़-भाषा विषय के पाठ्यक्रम में कुँडुख़ भाषा की लिपि तोलोंग-सिकि को शामिल कराने तथा पठन- पाठन कराने के लिए  पारंपारिक स्वशासन…

जो रिजर्वेशन विकास के लिए दिया गया उसे हम अपना बैसाखी मान बैठें है। आखिर एक कहावत है जब फ्री का पेट भरने के लिए मिल ही जाता है तो फिर दिमाग में…

यह  मार्मिक आलेख एक प्रशिक्षु का है जिन्‍होंने पिछले दिनों जमशेदुपर में आयोजित तोलोंग सिकि प्रशिक्षण शिविर में अपनी मंडली के साथ हिस्‍सा लेकर खुद…

No Photo

कुंड़ुखटाइम्‍स त्रैमासिक पत्रिका का अंक 8 करम विशेषांक (जुलाई से सितम्‍बर 2023) नीचे पीडीएफ में ऑनलाइन पढ़ें या डाउनलोड करके रख लें। बिल्‍कुल नि:…

दिनांक 18.0.2022 दिन मंगलवार को राष्ट्रीय आदिवासी छात्र संघ द्वारा रांची विश्वविद्यालय, रांची के कुलपति को ज्ञापन सौंपा गया। इस ज्ञापन में…

झारखंड और आसपास के आदिवासी बहुल इलाकों में मनाया जानेवाला प्रकृति पर्व - करम पूजा - इस वर्ष भी धूम-धाम से मनाया जा रहा है। आप सबको भी कुंड़ुख…

खबरें छोटी-छोटी ➽

आदिवासी दुनिया ➽

कुंड़ुंख भाषा की लिपि तोलोंग स…

BA एवं MA के कुँडुख़-भाषा विषय के पाठ्यक्रम में कुँडुख़ भाषा की लिपि तोलोंग-सिकि को शामिल कराने तथा पठन- पाठन कराने के लिए  पार…

क्‍या हेमन्‍त सरकार आदिवासी भा…

रांची: झारखंड के आदिवासी चाहते हैं कि उनके बच्‍चों को अंग्रेजी, हिन्‍दी के अलावा अपनी मातृभाषा (आदिवासी) भी पढ़ना अनिवार्य किया…

डॉ नारायण उरावं की मां सामाजिक…

सिसई (गुमला) की बहुप्रतिष्ठित कार्यकर्ता श्री मती फूलमणि उरांव नहीं रहीं। 85 वर्ष की उम्र में उन्‍होंने अपने  सैन्‍दा स्थित  आव…

रामवृक्ष किण्डो को विनम्र श्रद…

यह दुखद समाचार है कि ‘‘बुदो उराँव पब्लिक स्कूल, हहरी (कुँड़ुख़ इंग्लिस मिडियम स्कूल)’’ के संस्थापक सह निदेशक स्व० रामवृक्ष किण्ड…

कुंडुख़ भाषा स्‍कूल, मंगलो, सि…

नेड्डा - 09.08.2023 उल्‍ला  बुध गे  को रोपा डण्डी घी सा-हे तली  कार्तिक उरांव आदिवासी कुंडुख़ लूरकुड़िया  मंगलो,थाना सिसई, जिला…

लोकहित के लिए राजभवन हमेशा खुल…

दिनांक 09.08.2023 दिन बुधवार को महामहिम राज्यपाल का आवास अर्थात राजभवन में विश्व आदिवासी दिवस 2023 हर्सोल्लास के साथ मनाया गया।…

वीडियो ➽

दस्‍तावेज ➽

भारतीय संसद द्वारा पारित पेसा कानून 1996 (PESA 1996) की धारा 4(d) के तहत, दिनांक 18 से 20 अगस्त 2023 तक, 36 गांव की परम्परागत ग्राम सभा (पद्दा…

आलेख ➽

विदित है कि कुँडुख़़ भाषा की लिपि, तोलोंग सिकि के विकास में देश का आदिवासी आन्दोलन तथा झारखण्ड अलग प्रांत आन्दोलन का छात्र आन्दोलन की भूमिका…